रामपुर में पक्षी विहार की योजना बढ़ा देगी सौन्‍दर्य, मानव तथा पर्यावरण का स्वास्थ्य

रामपुर

 06-05-2022 09:14 AM
पंछीयाँ

हमारे रामपुर में कई वर्षों से पक्षी विहार की योजना बनाई जा रही है। जबकि इसके लिए जगह भी आवंटित की गई थी और पैसा भी खर्च किया गया था लेकिन विकास अधूरा रह गया। कुछ भारतीय वास्तुकला साइट (site) प्रतिकृतियां बनाने और उनके अंदर के पुराने जल निकाय के पुनरुद्धार में निवेश के हालिया दौर ने रामपुर को नई उम्मीद दी है। हाल ही में रामपुर प्राधिकरण द्वारा शहर में मोरी गेट व स्‍वार बस अड्डे के पास स्थित तलाब का सौंदर्यीकरण कराने की योजना तैयार की है। जिसका उद्देश्‍य स्वच्छ पानी के साथ स्‍थानीय लोगों को अनुकुल वातावरण प्रदान करना है।इसके साथ ही आस पास के पक्षियों की संख्‍या भी यहां बढ़ जाएगी। बर्ड वॉचिंग एक कमाल का शौक है जो आपके स्वास्थ्य और खुशी के लिए फायदेमंद है।हमें निचले हिमालयी पक्षियों को अपने रामपुर शहर की ओर आकर्षित करने पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है, यह हमारे शहर के नजदीक क्षेत्रों में उड़ते हैं। पक्षी, सौन्‍दर्य ही नहीं बढ़ाते हैं बल्कि वे पर्यावरण को स्‍वस्‍थ रखने में भी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं: बीज वितरण में सहायक: जब पक्षी यात्रा करते हैं, तो वे अपने साथ खाए गए बीजों को ले जाते हैं और अपनी बीट के माध्यम से उन्हें जगह जगह बिखेर देते हैं। पक्षी द्वारा यह बीज फैलाव पारिस्थितिक तंत्र में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है, क्योंकि कई पौधों की प्रजातियां अपने प्रसार के लिए लगभग पूरी तरह से पक्षियों पर निर्भर रहती हैं। पक्षी पौधों को परागित करने में सहायता करते हैं: जब भी परागणक की बात आती है तो हमारे दिमाग में मधुमक्खियों और तितलियों का नाम आता है, लेकिन पक्षी परागणकर्ता के रूप में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, खासकर उच्च ऊंचाई या गर्म जलवायु वाले क्षेत्र में। मनुष्यों द्वारा भोजन या दवा के लिए उपयोग किए जाने वाले लगभग 5% पौधे पक्षियों द्वारा परागित किए जाते हैं। कीट नियंत्रण में सहायक पक्षी: पक्षी कई टन कीड़े खा जाते हैं, एक वर्ष में औसतन 400-500 मिलियन टन कीड़े ये खा देते हैं। ये बगीचों, खेतों और पार्कों में कीटों को नियंत्रित करने का एक प्राकृतिक तरीका है। अपने जीवनकाल में एक बार्न उल्लू (Barn Owl) 11,000 से अधिक चूहों,जो 13 टन फसलों को खा जाते हैं, को खा सकता है। पक्षियों का उपयोग अन्य पक्षियों की आबादी को नियंत्रित करने के लिए भी किया जा सकता है जिन्हें कृषि में उपद्रव माना जाता है।
पक्षी मैला ढोने वाले प्रकृति के सफाईकर्मी हैं: गिद्ध के पेट से स्‍त्रावित होने वाला अत्यधिक अम्लीय पदा‍र्थ सबसे प्रतिरोधी बीजाणुओं को छोड़कर सभी को मार देते हैं, शवों को खाकर ये रोगजनक बैक्टीरिया को कम करते हैं और इस तरह वे बीमारी को नियंत्रित करने में अपनी भूमिका निभाते हैं। भारत में, गिद्धों की कमी के कारण रेबीज में वृद्धि हुई, और पश्चिमी भारत में 1994 में बुबोनिक प्लेग (bubonic plague) के प्रकोप में योगदान दिया, जिसमें 54 लोग मारे गए और भारत को 2 बिलियन डॉलर से अधिक की लागत आई थी।
पक्षी पर्यावरणीय खतरों का संकेत देते हैं: क्योंकि ये आवास परिवर्तन के प्रति संवेदनशील होते हैं और इन्‍हें गिनना आसान है, पक्षी पर्यावरण के स्वास्थ्य को मापने के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण साबित होते हैं। पक्षी समय के साथ पर्यावरणीय तनावों को एकीकृत और संचित कर सकते हैं।
पक्षी अर्थव्यवस्था का समर्थन करते हैं: संयुक्त राज्य अमेरिका (United States America) में पक्षियों की संख्या लगभग 73 मिलियन है। वे पक्षियों को खिलाने, उपकरण खरीदने और पक्षियों की खोज हेतु यात्रा के लिए सालाना 40 अरब डॉलर खर्च करते हैं। यह प्रक्रिया आर्थिक रूप से $ 82 बिलियन का उत्पादन करती है, 671,000 लोगों को रोजगार देती है, और राज्य और संघीय सरकारों को $ 10 बिलियन का मुनाफा प्रदान करती है।
पक्षी प्राकृतिक परिदृश्य को बनाए रखते हैं और बदलते रहते हैं: वन, दलदल और घास के मैदान जैसे आवास पूरे ग्रह में जीवन का समर्थन करते हैं, कार्बन का भंडारण करते हैं, जलवायु को स्थिर रखते हैं, हवा को ऑक्सीजन देते हैं, और प्रदूषकों को पोषक तत्वों में बदलते हैं। लेकिन पक्षियों के बिना, इनमें से कई पारिस्थितिक तंत्र मौजूद नहीं होंगे। पक्षी पौधे और शाकाहारी, शिकारी और शिकार के बीच नाजुक संतुलन बनाए रखते हैं, और खाद्य श्रृंखला और खाद्य जाल के अभिन्न अंग होते हैं।
पक्षी खाद: पक्षी, विशेष रूप से समुद्री पक्षी, पोषक तत्वों के चक्रण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और प्रवाल भित्तियों जैसे समुद्री पारिस्थितिक तंत्र को निषेचित करने में मदद करते हैं। उनकी बीट में नाइट्रोजन, फॉस्फेट और पोटेशियम की उच्च सामग्री होती है जो कि पौधों के विकास के लिए आवश्यक 3 पोषक तत्व हैं।
पक्षी विज्ञान को प्रेरित करते हैं: उड़ने की तकनीक से लेकर ज़िपर के आविष्कार तक इंसानों ने सदियों से पक्षियों से प्रेरणा ली है। एक महत्वपूर्ण उदाहरण: गैलापागोस में डार्विन (Darwin) के अध्ययन ने प्राकृतिक चयन के माध्यम से विकास पर विचारों को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। पक्षी सैन्य नायक के रूप में: पक्षियों में विशेष कौशल होता है जिसने उन्हें ऐतिहासिक रूप से सेनाओं के लिए उपयोगी बना दिया है। प्रथम विश्व युद्ध के दौरान, तीतरों ने लंबी दूरी पर आने वाले शत्रुओं के विमानों का पता लगाया। कैनरी (Canary) ने जहरीली गैस को महसूस किया। कचरे की तलाश में गल्स (Gulls) ने पनडुब्बियों का पीछा किया। पक्षियो का निरीक्षण करना मानव स्‍वास्‍थ्‍य की दृष्टि से लाभदायक होता है, यह मानव को शारीरिक एवं मानसिक दोनों ही रूपों में संतुष्टि प्रदान करता है।पक्षियो का निरीक्षण से होने वाले कुछ स्‍वास्‍थ्‍य लाभ:
प्रकृति के लिए लगाव: पक्षियो के निरीक्षण की प्रवृत्ति प्रकृति के साथ एक सामंजस्यपूर्ण मिलन को प्रेरित करती है। इन्‍हें देखने वाले लम्‍बे समय तक घर से बाहर समय बिताते हैं, जहां वे सूरज से विटामिन डी (vitamin D) लेते हैं, ताजी हवा में सांस लेते हैं, और जानवरों के साथ संवाद करते हैं। प्रकृति में समय बिताना आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। धैर्य:पक्षियो का निरीक्षण उनके लिए शौक नहीं हो सकता है जो तुरंत संतुष्टि चाहते हैं। इस प्रक्रिया के लिए पक्षियों से संबंधित बहुत सारे अध्ययन की आवश्यकता होती है और वे कहाँ पाए जाते हैं, फिर उस स्थान की यात्रा करने का समय, फिर एक पक्षी की एक झलक पाने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता है। वास्तविक दुनिया में बहुत सी परिस्थितियाँ हमें धैर्य रखने के लिए कहती हैं और पक्षी देखने वाले इन परिस्थितियों से निपटने के लिए बेहतर तरीके से सुसज्जित हैं।
चिंतन और आत्मनिरीक्षण: पक्षी देखना एक बहुत ही ध्यानपूर्ण गतिविधि है। यह प्रक्रिया आपके जीवन को प्रतिबिंबित करने और शांत विचारों को सोचने का एक शानदार अवसर प्रदान करती है। ध्यान लगाना अपने भूलने से संबंधित समस्‍या को कम कर सकता है, जो कि उम्र के साथ स्वाभाविक रूप से होता है।
त्वरित सजगता: पक्षी कहीं से भी दिखाई दे सकते हैं, इसलिए इन्‍हें देखने के लिए आपको सजग रहना पड़ता है और अपना कैमरा या दूरबीन तैयार करने की आवश्यकता होती है।
मानसिक सतर्कता: एक पक्षी यहां हो सकता है और पलक झपकते ही गायब हो सकता है। पक्षी देखने वालों को यह सुनिश्चित करने के लिए कई अलग-अलग स्तरों पर काम करने की आवश्‍यकता होती। इसके लिए आप दिमाग का सुचारू रूप से प्रयोग करके किसी भी सुराग को उठा सकते हैं जिससे अपने निकट स्थित पक्षी का पता लगाया जा सके।
हृदय स्वास्थ्य: पक्षी देखने वाले कभी-कभी पक्षी की एक निश्चित प्रजाति की तलाश में कई मील चल जाते हैं। कई पक्षी प्रकृति के काफी अंदर बसे होते हैं और जो कि अधिकांश मनुष्यों के लिए एक दुर्गम स्‍थान होता है। कुछ प्रजातियाँ चट्टानों और पहाड़ों पर ऊँचे स्थान पर रहती हैं, और उन्हें देखने के लिए आपको पैदल यात्रा करने की आवश्यकता होती है।
समुदाय की भावना: हालांकि व्यक्तिगत सैर या तो एकल-यात्राएं हो सकती हैं या एक छोटे समूह के साथ की जा सकती हैं, पक्षी देखने वालों ने समुदाय की एक मजबूत भावना को बढ़ावा दिया है। शौक़ीन अपनी नवीनतम यात्रा के विवरण पर ऑनलाइन और व्यक्तिगत रूप से चर्चा करने में आनंद लेते हैं। यह सामान्य हित सामाजिक स्वास्थ्य और आजीवन दोस्त बनाने के लिए बहुत अच्छा है।
स्वीकृति: हम अपने जीवन के हर पहलू को नियंत्रित करना चाहते हैं, लेकिन कभी-कभी चीजें हमारे नियंत्रण से बाहर हो जाती हैं। इसे स्वीकार करना मुश्किल हो सकता है, लेकिन यह स्वीकार करना परिपक्वता का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है कि चीजें हमेशा हमारे अनुसार नहीं रहती हैं। पक्षी देखने वाले इस कठोर सच्चाई को जानते हैं, क्योंकि अधिकांश ने एक दुर्लभ पक्षी की तलाश में एक असाधारण यात्रा की योजना बनाई है, केवल खराब मौसम या दुर्भाग्य से उनकी योजना खराब हो जाती है। यह स्वीकार करना कि हर यात्रा का परिणाम सही तस्वीर नहीं है, शौक का हिस्सा है, और इसके लाभों को जीवन के अन्य हिस्सों में स्थानांतरित किया जा सकता है।

संदर्भ:
https://bit।ly/3yfIRdB
https://bit।ly/3FeVXJz
https://bit।ly/381bH6O
https://bit।ly/3scz5VQ
https://bit।ly/3KIKD9x
https://bit।ly/3LHFGiy

चित्र संदर्भ
1  पक्षी विहार करते सैलानियों को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
2. पलायन करती चिड़ियों को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
3. फूल पर बैठी तितली को दर्शाता एक चित्रण (Pixabay)
4. शिकार खाते बार्न उल्लू (Barn Owl) को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
5. मृत शरीर को खाते गिद्ध को दर्शाता एक चित्रण (Flickr)
6. बर्ड वाचिंग को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)



RECENT POST

  • एकांत जीवन निर्वाह करना पसंद करती मध्य भारत की रहस्यमय बैगा जनजाति का एक परिचय
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     30-06-2022 08:33 AM


  • कोविड-19 के नए वेरिएंट, क्यों और कहां से आ रहे हैं?
    कोशिका के आधार पर

     29-06-2022 09:16 AM


  • पश्चिमी पूर्वी वास्तुकला शैलियों का मिश्रण, अब्दुस समद खान द्वारा निर्मित रामपुर की दो मंजिला हवेली
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:12 AM


  • क्या क्वाड रोक पायेगा हिन्द प्रशांत महासागर से चीन की अवैध फिशिंग?
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:23 AM


  • प्राकृतिक इतिहास में विशाल स्क्विड की सबसे मायावी छवि मानी जाती है
    शारीरिक

     26-06-2022 10:01 AM


  • फसल को हाथियों से बचाने के लिए, कमाल के जुगाड़ और परियोजनाएं
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:46 AM


  • क्यों आवश्यक है खाद्य सामग्री में पोषण मूल्यों और खाद्य एलर्जी को सूचीबद्ध करना?
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:47 AM


  • ओपेरा गायन, जो नाटक, शब्द, क्रिया व् संगीत के माध्यम से एक शानदार कहानी प्रस्तुत करती है
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:28 AM


  • जीवन जीने के आदर्श सूत्र हैं , महर्षि पतंजलि के अष्टांग योगसूत्र
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:18 AM


  • कहीं आपके घर के बाहर ही तो नहीं है लाखों रुपयों के ये कीड़े
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:42 AM






  • © - , graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id