Machine Translator

क्या रामपुर ज़िले में पर्याप्त विद्यालय हैं?

रामपुर

 01-08-2017 01:09 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति
शिक्षा का परिणाम एक मुक्त रचनात्मक व्यक्ति होना चाहिए जो ऐतिहासिक परिस्थितियों और प्राकृतिक आपदाओं के विरुद्ध लड़ सके - सर्वपल्ली राधाकृष्णन| शिक्षा तथा ज्ञान की प्राप्ति सिर्फ किताबों से नहीं बल्कि आस-पास के वातावरण, संस्कृतियों तथा उनका ऐतिहासिक महत्त्व समझने से होगा| शिक्षा का हर विषय एक दुसरे में जुड़ा हुआ है| बच्चों की शिक्षा उनके घर से तथा आस-पास के वातावरण से शुरू होती है| सही उम्र पर विद्यालय में दाखिला करवाना भी बच्चों के मानसिक विकास के लिए अत्यंत अावश्यक है| भारत की बात करें तो यहाँ कई विश्वविद्यालयों की स्थापना हुई तथा उत्तर प्रदेश का लखनऊ, वाराणसी, इलाहाबाद ज्ञान का केंद्र रहा| अट्ठारहवीं एवं उन्नीसवीं शताब्दी में रामपुर भी शिक्षा में अग्रसर रहा तथा यहाँ के लोग कला, संगीत, चित्रकारी इत्यादि में सबसे उत्तम पद पर रहें| रामपुर जिले में प्रति लाख जनसंख्या पर विद्यालयों की संख्या पर नज़र डाले तो 2014-2015 में जूनियर बेसिक विद्यालय 88 तथा सीनियर बेसिक विद्यालय लगभग 42 हैं| यह प्रति लाख जनसंख्या के हिसाब से कम है, परन्तु उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के आकड़ें और भी चिंताजनक हैं – रामपुर जिले में प्रतिलाख जनसंख्या पर केवल 6 उच्चतर विद्यालय है| 1.जिलेवार विकास संकेतक, उत्तर प्रदेश 2015 - अर्थ एवं संख्या प्रभाग, राज्य नियोजन संस्थान नियोजक विभाग, उत्तर प्रदेश. 2.http://www.censusindia.gov.in/2011census/dchb/0905_PART_B_DCHB_RAMPUR.pdf

RECENT POST

  • रामपुर में स्थित है भारत का पहला लेज़र नक्षत्र-भवन
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     22-08-2019 02:23 PM


  • दु:खद अवस्था में है, रामपुर की सौलत पब्लिक लाइब्रेरी
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     21-08-2019 03:40 PM


  • क्यों कहा जाता है बेल पत्थर को बिल्व
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     20-08-2019 01:37 PM


  • देश में साल दर साल बढ़ती स्‍वास्‍थ्‍य चिकित्सा लागत
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     19-08-2019 02:00 PM


  • क्या होता है, सकल घरेलू उत्पाद (GDP)
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     18-08-2019 10:30 AM


  • कैसे पड़ा हिन्‍द महासागर का नाम भारत के नाम पर?
    समुद्र

     17-08-2019 01:54 PM


  • रामपुर नवाब के उत्तराधिकारी चुनाव का संघर्ष चला 47 साल तक
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     16-08-2019 05:47 PM


  • अगस्त 1942 को गोवालिया टैंक मैदान में ध्वजारोहण के बाद की अनदेखी छवियाँ
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     15-08-2019 08:16 AM


  • सहयोग व रक्षा का प्रतीक हैं पर्यावरण अनुकूलित हस्तनिर्मित राखियां
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     14-08-2019 02:41 PM


  • रामपुर पर आधारित भावनात्मक इतिहास लेखन
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     13-08-2019 12:44 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.