उमंग एप के माध्‍यम से सरकारी विभाग अब आपके हाथ में

रामपुर

 15-01-2019 02:45 PM
संचार एवं संचार यन्त्र

आज की भागदौड़ भरी जीवन शैली में किसी के पास इतना समय नहीं होता है कि वे किसी सरकारी काम को करवाने के लिए कई दिनों तक सरकारी दफ्तरों के चक्‍कर काटते रहें और ऐसा भी नहीं कि इनके बीना काम चल जाए। अतः इस स्थिति से निजात दिलाने के लिए भारत सरकार द्वारा एक विशेष कदम उठाया गया, इनके द्वारा एक डिजिटल एप उमंग (यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन (Unified Mobile Application)) लांच किया गया है। इसके माध्‍यम से आप घर बैठे अपने सरकारी कामों को करवा सकते हैं, इस एप में भारत के लगभग 100 सरकारी विभागों को जोड़ा गया है तथा ये विभाग आपको 24/7 सेवाएं उपलब्‍ध करते है।

23 नवंबर 2017 को नई दिल्ली में साइबरस्पेस (Cyberspace) पर वैश्विक सम्मेलन के पांचवें संस्करण में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उमंग ऐप की सेवा को लॉन्च किया गया था। 2016 में इसे बनाने पर विचार किया गया था। उमंग को राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन (NeGD) और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा विकसित किया गया है, इसको लॉन्च करने से पहले नवंबर 2016 से कई बीटा परीक्षणों से गुजरना पड़ा था। इस ई-गवर्नेंस एप्लिकेशन (e-governance application) का उपयोग अन्य चैनलों जैसे कि वेब, एसएमएस या आईवीआर के माध्यम से भी किया जा सकता है। उमंग ऐप को एंड्रॉइड (Android), आईओएस (IOS) और विंडोज फोन (Windows Pnone) पर मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है। जिसे आप गूगल प्‍लेस्‍टोर (Google Play Store) में जाकर डाउनलोड कर सकते हैं। उमंग एप डिजिटल भारत में ई-शासन प्रणाली को विकसित करने की एक पहल है। उमंग सभी भारतीय नागरिकों को केंद्र से लेकर स्थानीय सरकारी निकायों और अन्य नागरिक केंद्रित सेवाओं तक अखिल भारतीय (Pan-India) ई-सरकारी सेवाओं का उपयोग करने के लिए एक ही मंच प्रदान करता है। लॉन्च करते समय ऐप में 33 राज्य और केंद्र सरकार के विभागों तथा चार राज्यों से 162 सेवाएं थीं, जो जल्द ही 1,200 से अधिक हो सकती हैं। उमंग एप में अंग्रेजी के अतिरिक्‍त 12 भारतीय भाषाओं की सुविधा प्रदान की गयी है।

उमंग एप का उपयोग:

चरण 1: गूगल प्‍लेस्‍टोर या एप्‍पल (Apple) ऐप स्टोर से उमंग ऐप डाउनलोड करें।

चरण 2: व्यक्तिगत विवरण जैसे नाम, मोबाइल नंबर, आयु देकर अपनी प्रोफ़ाइल (Profile) बनाएं, प्रोफाइल फोटो भी अपलोड की जा सकती है।

स्टेप 3: आप अपने आधार नंबर को ऐप और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट से भी लिंक कर सकते हैं।

चरण 4: प्रोफ़ाइल बनाने के बाद, आप लॉग इन कर सकते हैं और सेवाओं तथा श्रेणियों के माध्यम से ब्राउज़ (brows) करने के लिए ‘सॉर्ट एंड फ़िल्टर’(Sort & Filter) अनुभाग पर जा सकते हैं।

चरण 5: विशेष सेवाओं पर जाने के लिए खोजें (Search) के विकल्‍प पर जा सकते हैं।

उमंग ऐप में उपलब्ध कुछ सेवाएं निम्नलिखित हैं:

संदर्भ:

1. https://bit.ly/2RMRSpy
2. https://bit.ly/2TQjhEh
3. https://web.umang.gov.in/web/#/
4. https://en.wikipedia.org/wiki/UMANG



RECENT POST

  • क्या इत्र में इस्तेमाल होता है व्हेल से निकला हुआ घोल
    मछलियाँ व उभयचर

     17-02-2019 10:00 AM


  • शिक्षा को सिद्धान्‍तों से ऊपर होना चाहिए
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     16-02-2019 11:47 AM


  • ये व्यंजन दिखने में मांसाहारी भोजन जैसे लगते तो है परंतु हैं शाकाहारी भोजन
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     15-02-2019 11:39 AM


  • प्यार और आज़ादी के बीच शाब्दिक सम्बन्ध
    ध्वनि 2- भाषायें

     14-02-2019 01:20 PM


  • चावल के पकवानों से समृद्ध विरासत का धनी- रामपुर
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     13-02-2019 03:18 PM


  • भारत में बढ़ती हॉकी के प्रति उदासीनता
    हथियार व खिलौने

     12-02-2019 04:22 PM


  • संगीत जगत में राग छायानट की अद्‌भुत भूमिका
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     11-02-2019 04:21 PM


  • देखे विभिन्न रंग-बिरंगे फूलों की खिलने की पूर्ण प्रक्रिया
    बागवानी के पौधे (बागान)

     10-02-2019 12:22 PM


  • एक पक्षी जिसका निशाना कभी नहीं चूकता- किलकिला
    पंछीयाँ

     09-02-2019 10:00 AM


  • गुप्त लेखन का एक विचित्र माध्यम - अदृश्य स्याही
    संचार एवं संचार यन्त्र

     08-02-2019 07:04 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.