युवाओं का मॉडलिंग की दुनिया में बढ़ता रुझान

रामपुर

 11-01-2019 01:44 PM
द्रिश्य 2- अभिनय कला

आज की आधुनिक दुनिया में युवाओं का उन्माद फैशन के प्रति काफी बढ़ गया है। इसी कारण हाल के वर्षों में इसमें काफी उछाल देखा गया है। यदि आपका उद्देश्य ग्लैमर (glamour) की दुनिया में करियर (career) बनाना है, तो आपके लिए यहां काफी स्कोप है। यहां रोमांच के साथ-साथ तेजी से उन्नति करने के तमाम अवसर हैं। आज के दौर में मॉडलिंग का चलन इस कदर बढ़ा है कि महानगरों से लेकर छोटे शहरों तक सभी लोग इसे बतौर करियर चुन रहे है। क्या रामपुर क्या लखनऊ, क्या मुंबई, हर शहर के नौजवान मॉडल बनना चाहते हैं। मॉडलों की सबसे ज्यादा मांग परिधान (Garment) और सौंदर्य उत्पाद उद्योगों में, टीवी मॉडलिंग में, रैंप (ramp) मॉडलिंग (modeling) आदि में होती है।

मॉडलिंग के क्षेत्र में आपको किसी कंपनी के प्रोडक्ट (product) या फिर जाने-माने फैशन डिजाइनर (fashion designer) के तैयार कपड़ों को बढ़ावा देने का कार्य करना पड़ता है। मॉडलिंग का मतलब सिर्फ रैंप पर कैटवॉक (catwalk) करना नहीं है यह एक सीखने की कला है। जिसमें आपको अलग-अलग चीजों को सिखने का मौका मिलता है। यह क्षेत्र ग्लैमर के चकाचौंध से भरपूर जरूर है, लेकिन यहां चुनौती भी कम नहीं है। सफल होने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। यहां भी प्रतिस्पर्धा कम नहीं है, इसलिए जबरदस्त आत्मविश्वास और धैर्य का होना जरूरी है।

योग्यता तथा कमाई:-

मॉडलिंग के क्षेत्र में आने के लिए वैसे तो किसी खास तरह की डिग्री का होना जरूरी नहीं है। लेकिन 12वीं के बाद आप सीधे इस क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं, हालांकि आपने स्नातक (graduate) किया हो तो बेहतर है। शुरू में आप पेशेवर फोटोग्राफर के पास जाकर आपना अच्छा संविभाग तैयार करा कर किसी विज्ञापन संस्था (Advertising Agency) से संपर्क कर सकते हैं या किसी फैशन डिजाइनर को दिखाकर अपनी मॉडलिंग की राह आगे बढ़ा सकते हैं या फिर विभिन्न पत्रिकाओं और कॉस्मेटिक (cosmetic) कंपनियों आदि के द्वारा प्रायोजित प्रतियोगिताओं के लिए आवेदन कर सकते है। शुरू-शुरू में आपकी तनख्वाह 8000 से 10,000 रुपये महीने हो सकती है। लेकिन जब आप कुशल हो जाते हैं, तो सैलॅरी काफी बढ़ जाती है। इस क्षेत्र में असाइनमेंट (assignment) पर आधारित काम होता है। जब आप इस क्षेत्र में एक बार पहचान बना लेते हैं, तो लाखों में कमाई कर सकते हैं, एक टेलीविजन विज्ञापन के लिए आपको 2-5 लाख भी मिल सकते है।

व्यक्तिगत कौशल:

किसी भी मॉडल की सफलता के लिए व्यक्तिगत विशेषताएं सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं। मॉडलिंग की दुनिया में व्यक्तिगत रूप पर खासा ध्यान दिया जाता है। इस क्षेत्र में शारीरिक लंबाई बहुत मायने रखती है। लड़कियों के लिए इस क्षेत्र में लंबाई 5 फुट 7 इंच और लड़कों के लिए इससे भी लम्बा होना जरूरी है। साथ ही कैमरा अनुकूल रवैया, भरपूर आत्मविश्वास, और उत्पादों का प्रोमोशन (promotion) करते हुए अनुग्रह, इस पेशे में नाम कमाने के लिए सभी महत्वपूर्ण हैं। इसी के साथ ही अगर आपने किसी मॉडलिंग इंस्टीट्यूट (modeling institute) से प्रशिक्षण ले रखी है तो मॉडलिंग आपके लिए बेहतर करियर साबित हो सकता है।

निम्नलिखित वे बातें हैं जो एक मॉडलिंग एजेंट नए मॉडल का चयन करते समय उसमें देखते हैं:

1) वहीं जब आप किसी एजेंट(agent) के पास जाते हैं तो वह सबसे पहले आपके रूप का मूल्यांकन करते हैं, क्योंकि उत्पाद और उसको प्रचारित करने वाले मॉडल के मध्य सामंजस्य है या नहीं, इसका भी निरीक्षण करते हैं। सबसे महत्वपूर्ण, मॉडल को आमतौर पर लंबा (सामान्यतः 5 फीट 7 इंच और 5 फीट 11 इंच के बीच) और पतला होना चाहिए।

2) अक्सर आपने एजेंट और फोटोग्राफर को "अपने एंगेल्स (angles) को जानने" के बारे में कहते हुए सुना होगा। वहीं एक मॉडल में अन्य महत्वपूर्ण विशेषता उनका फोटोजेनिक (तस्वीरों में या फिल्म में आकर्षक दिखने वाला)(photogenic) होना होता है। कई बार एक सुंदर लड़की भी फोटो में कम सुंदर दिखती है, इसका कारण काफी सरल है, फोटोजेनिक होने के कुछ तत्वों को सीखा जा सकता है, लेकिन उनमें से कई बस आनुवंशिकी का परिणाम होते हैं। साथ ही समरूपता भी काफी महत्वपूर्ण होती है, अधिकांश मॉडलों के सममित चेहरे होते हैं।

3) आख़िरी चीज जो एजेंट एक मॉडल में देखता है, वो मॉडल का पोस्चर (posture) होता है। सत्तर प्रतिशत मॉडल रनवे (runway) में अपना जीवन व्यतीत करते हैं, और इस दौरान उन्हें अनुग्रह, गर्व और मज़बूती के साथ पोस्चर देना होता है। उचित रुख और चलना मॉडलिंग में एक आवश्यक चीज है, जिसे आप सीख भी सकते हैं।

उदाहरण के लिए, 19 वर्षीय तुहिर ब्रह्मभट्ट और 17 वर्षीय अमर डिरेन्जो ना तो कोई बलवान हैं और ना ही किसी देवता का अवतार। फिर भी इनके शानदार अंदाज़ और आत्मविश्वास के कारण इनकी दमदार तस्‍वीरें आती हैं। तुहिर के भीतर मॉडलिंग की प्रतिभा जन्‍मजात ही है, इन्‍होंने 164 वर्षीय फ्रांसीसी लक्ज़री लेबल लुइस वुइटन (Louis Vuitton) के लिए रैंप पर चला है। लुइस वुइटन के लिए काम करना तुहिर के लिए फैशन जगत की ओर एक बहुत बड़ा कदम था।

इसी प्रकार अमर ने विविएन वेस्टवुड की कृतियां फैशन प्रोवोकेचर (fashion provocateur) और पंक आइकन विवियन वेस्टवुड की रचनाओं को प्रस्तुत किया। अमर का परिवार इनकी तीन वर्ष की अवस्‍था में ब्रिटेन चला गया था। ब्रेक्सिट के कारण आज ब्रिटेन विभाजन की स्थिति में है, लेकिन डेरेन्जो जैसे लोगों के कारण ब्रिटिश फैशन उद्योग, भारतीय चेहरों में गंभीरता से रुचि ले रहा है। जहां, एक दशक पहले, फैशन पत्रिकाओं में केट मॉस, हेइडी क्लम और गिसले बुंडचेन जैसे कवर मॉडल थे, अब वोग और आई-डी जैसे प्रकाशनों में नीलम गिल, भूमिका अरोरा, राधिका नायर, दीप्ति शर्मा, कोमल गज्जर और पूजा मोर जैसे लोग दिखाई देते हैं। शायद यह इन भारतीय मॉडलों की सफलता है।

"मॉडल अब भिन्‍न भिन्‍न पृष्ठभूमि से, अलग-अलग स्‍वरूप के, अलग-अलग उम्र वाले किसी भी प्रकार के लोग हो सकते हैं..." अमर डिरेनजो

सबसे महत्वपूर्ण चीज है यह निर्णय लेना कि आप कौन से मॉडल बनना चाहते हैं? जी हाँ मॉडल के भी प्रकार होते हैं। निम्न प्रकारों को देख कर आप आकलन लगा सकते हो कि आप कौन सा मॉडल बनना चाहते हो :-

रनवे मॉडल (runway model): रनवे मॉडल के लिए आपकी 5’9 लंबाई और उत्तम कैटवॉक प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है। वहीं आदर्श शारीरिक बनावट के साथ पुरुषों की ज्यादातर 5’11-6’2 के बीच की लंबाई होनी चाहिए।

प्रिंट मॉडल (print model): संपादकीय शूट में आमतौर पर एक आकर्षक व्यक्तित्व और फोटोजेनिक के साथ 5’7 लंबाई वाले मॉडल का चयन किया जाता है।

प्रोमोशनल मॉडल (promotional model): कुछ कंपनियां अपने ग्राहकों की बातचीत सीधे मॉडलों के साथ करवाते हैं, ताकी उनके ब्रांड में वृद्धि हो सके। इसलिए आकर्षक व्यक्तित्व वाले मॉडल की इसमें आवश्यकता होती है।

पोर्टफोलियो (portfolio) की आवश्यकता आपको कभी भी हो सकती है, हालांकि पोर्टफोलियो के लिए तस्वीरें खिचवाना होते तो काफी महंगे हैं, लेकिन यह आपके लिए काफी लाभदायक भी होते हैं। इस से आप लूक (look) देना सीख जाते हैं और किसी भी साक्षात्कार में आपको इनकी आवश्यकता पड़ सकती है। एक प्रतिष्ठित फोटोग्राफर (अधिमानतः फैशन फोटोग्राफर) से अपना पोर्टफोलियो शूट (portfolio shoot) करवाएं। उसके बाद यदि आपके पास पर्याप्त तस्वीरें इकट्ठी हो जाती हैं, तो एजेंसियों में अपने पोर्टफोलियो को ले जाएं।

हालांकि फ्रीलांस मॉडलिंग बहुत चलन में है, लेकिन यह उनके लिए ठीक है जिनका इंडस्ट्री में काफी नाम है। यदि आप एक फ्रेशर हैं, तो किसी एजेंसी से संपर्क करना ज्यादा उचित रहेगा, वहीं जब आप किसी एजेंसी से संपर्क करते हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखें, जैसे, अपने स्नैपशॉट (snapshot) और पोर्टफोलियो साथ लेकर जाएं। वे आपको चलने या पोज देने के लिए कह सकते हैं। वे आपका माप भी ले सकते हैं। किसी भरोसेमंद व्यक्ति के साथ संपर्क में रहें और धोखा खाने से बचें।

इस क्षेत्र में आपको सावधान रहने की जरूरत भी है, मॉडलिंग एजेंसियों की नींव अक्सर धोखे पर रखी होती हैं। शुरुआती अनुभवहीन मॉडल इस क्षेत्र के बारे में ज्यादा नहीं जानते और धोखे में फस जाते हैं। फैशन फोटोग्राफर प्रवीण भट्ट कहते हैं “मॉडलिंग के लिए पंजीकरण शुल्क जैसी कोई चीज नहीं होती है। इसके अलावा, आपको किसी भी मॉडल कार्ड की आवश्यकता नहीं है, यह एक घोटाला है। क्योंकि इस तरह का कार्ड जारी करने के लिए भारत में कोई अधिकृत निकाय नहीं है।” कुछ फर्जी एजेंसियां मॉडल्स को ऑडिशन (Auditions) के लिए पैसे देने के लिए भी कहती हैं। जबकि वास्तविक ऑडिशन का भुगतान कभी नहीं किया जाता है। यदि कोई आपसे ऑडिशन के लिए भुगतान करने के लिए कहता है, तो समझ जाइये कि वे नकली हैं।

इस चकाचौंध की दुनिया में अपको कास्टिंग काउच (casting couch) तक का सामना करना पड़ सकता है, यदि कोई एजेंट आपसे कहे कि बड़े बैनर या बड़े लोगों के साथ काम पाने के लिये कास्टिंग काउच अनिवार्य रूप से आपको करना होगा और उसके बाद काम का आश्वासन दिया जायेगा तो समझ जाइये की फर्जी है और जल्द से जल्द इस धोखे से निकलने की कोशिश कीजिए। आपको इन फर्जी एजेंसियों से बेहद सावधान रहने की आवश्यकता है।

मॉडलिंग के प्रमुख संस्थान:

1. ग्लिट्ज मॉडलिंग (Glitz Modelling) – नई दिल्ली
2. एलिट स्कूल ऑफ मॉडलिंग (Elite School of Modelling) – नई दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर
3. मॉडल्स गुरु (Models Guru) – नई दिल्ली
4. पॉलिटेक्निक फॉर वूमेन (Polytechnic For Women) – नई दिल्ली
5. वाईएसजी वर्ल्डवाइड मॉडल एंड प्रमोशन कंपनी (YSG Worldwide Model and Promotion Co.) – मुंबई
6. ओजोन मॉडल्स मेनेजमेंट (Ozone Models Management) – मुंबई
7. द टीना फैक्टर-टीना शाह द्वारा (The Tina Factor) – नई दिल्ली

संदर्भ :

1. https://bit.ly/2H7MqJT
2. https://bit.ly/2D3DQb4
3. https://www.gngmodels.com/become-model/
4. https://bit.ly/2Fmxo1b
5. https://bit.ly/2QEOw3d



RECENT POST

  • 111
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     19-03-2019 07:00 AM


  • इस्लामी वास्तुकला में रंगों का महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-03-2019 07:45 AM


  • तितलियों का कायांतरण - आखिर कैसे बड़ी होती है तितलियां
    तितलियाँ व कीड़े

     17-03-2019 09:00 AM


  • आखिर भारत में लौह उद्योग को आज किन चुनौतियों का सामना करना पर रहा है
    खदान

     16-03-2019 09:00 AM


  • क्या होता है जंक डीएनए?
    डीएनए

     15-03-2019 09:00 AM


  • रामपुर की एक महिला ने किया था ख़िलाफ़त आन्दोलन में गाँधी जी का सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     14-03-2019 09:00 AM


  • घौंसले में रहने वाली चींटी
    तितलियाँ व कीड़े

     13-03-2019 09:00 AM


  • गणितीय पहाड़ों का उदगमन
    धर्म का उदयः 600 ईसापूर्व से 300 ईस्वी तक

     12-03-2019 09:00 AM


  • वन संरक्षण की एक मुहिम चिपको आंदोलन
    आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

     11-03-2019 12:41 PM


  • रोज़ के भाग दौर भरी जिंदगी में फसा एक युवक
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     10-03-2019 12:39 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    रोज़ के भाग दौर भरी जिंदगी में फसा एक युवक | Routine