योग का अर्थ एवं प्रकार

रामपुर

 23-06-2018 03:43 PM
विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

5000 वर्ष पहले योग की शुरुआत भारत में हुई। यह शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक प्रथाओं और विषयों का एक समूह है, जो प्राचीन भारत में पैदा हुआ था। बौद्ध धर्म, हिन्दू धर्म और जैन सहित कई पूर्वी धर्मों ने योग शीघ्र अति शीघ्र ग्रहण किया। यह 1890 के दशक में पश्चिमी दुनिया में फैला और 1960 के दशक में विश्व प्रसिद्ध हो गया।

योग का शाब्दिक अर्थ है- ‘मिलन या एकता’। आत्मा से जुड़ने के लिए हमारे आंतरिक मन और इंद्रियों को एकजुट होना पड़ता है। योग सांस और ध्यान पर जोर देने के साथ-साथ शरीर, मन और आत्मा को एकजुट करता है।

योग दिमाग का पूर्ण उत्थान है और यह दो प्रकार का होता है, पहला- आत्मज्ञान और दूसरा- संयम। योग आध्यात्मिक है क्योंकि यह व्यक्तिगत है। योग में धर्म, दर्शन और प्रथाएं निहित हैं। हिन्दू धर्म, बौद्ध धर्म और जैन धर्म में योग विद्यालयों, प्रथाओं और लक्ष्यों की एक विस्तृत विविधता है। योग के सबसे प्रसिद्ध प्रकारों में से हठ योग और राज योग हैं। योग की उत्पत्ति का अनुमान पूर्व-वैदिक भारतीय परम्पराओं के साथ जोड़ा जाता है। जिसका उल्लेख ऋग्वेद में किया गया है। लेकिन 5वीं और 6ठी शताब्दी ईसा पूर्व के आसपास प्राचीन भारत के तपस्वी और श्रम आंदोलनों से इसकी शुरूवात की सबसे अधिक संभावना विकसित हुई है।

योग-प्रथाओं का वर्णन करने वाले शुरूवाती ग्रंथो का कालक्रम अस्पष्ट है, इसलिए इसका श्रेय अलग-अलग उपनिषदों को दिया जाता है। 1 सहस़्त्राब्दी के पहले भाग से पतंजलि के योग सूत्रों की शुरूवात मानी जाती है, लेकिन 20वीं शताब्दी में पश्चिम में इसे प्रसिद्धि प्राप्त हुई। 11वीं शताब्दी के आस-पास, तंत्र में योगों के साथ हठ योग ग्रन्थ उभरा। 19वीं शताब्दी के अंत और 20वीं शताब्दी की शुरूवात में भारत के योग गुरू स्वामी विवेकानंद की अपार सफलता ने योग का पश्चिम में परचम लहराया।

भारतीय परंपराओं में योग शारीरिक व्यायाम से अधिक है, यह ध्यान और आध्यात्मिकता का मूल है। हिन्दू धर्म के छः विद्यालयों में से एक को योग भी कहा जाता है। जिसका अपना ज्ञान मिमांसा या ज्ञान पद्धति शास्त्र और आध्यात्मिकता है और जो हिन्दू सांख्य दर्शन से संबंधित है। ब्रहमाण्ड को सांख्य-योग विद्यालयों में दो वास्तविकताओं से बना माना जाता है- पुराण (चेतना) और प्रकृति (पदार्थ)। जीव को एक ऐसे राज्य के रूप में माना जाता है, जिसमें पुरूष विभिन्न रूपों- इंद्रियों, भावनाओं, गतिविधि और दिमाग के विभिन्न क्रमिकताओं और संयोजनों में प्रकृति से बंधा होता है अर्थात् जहां चेतना स्वयं से बाहर किसी भी वस्तु से अनजान है, केवल अपनी प्रकृति के बारे में पता है क्योंकि चेतना किसी अन्य वस्तु के साथ मिश्रित है। इस बंधन के अंत को हिन्दू धर्म के योग और सांख्य विद्यालयों द्वारा मुक्ति या मोक्ष कहा जाता है। योग विद्यालय का नैतिक सिद्धांत संयम और नियमों पर आधारित है।

योग शब्द जैन और बौद्ध प्रथाओं सहित विभिन्न प्रथाओं और विधियों पर लागू किया गया है। हिन्दू धर्म में इनमें ज्ञान योग, भक्ति योग, कर्म योग, लय योग, तंत्र योग, मंत्र योग, कर्म योग, शास्त्रीय योग, हठ योग, शैव योग और अष्टांग योग शामिल हैं। राज योग अष्टांग योग को संदर्भित करता है। आठ अंगों की समाधि प्राप्त करने के लिए अभ्यास किया जाता है। राज योग मूल रूप से योग के अंतिम लक्ष्य को संदर्भित करता है, जो आम तौर पर समाधि होता है।

कई अध्ययनों द्वारा कैंसर (Cancer), स्किज़ोफ्रेनिया (Schizophrenia), अस्थमा (Asthama) और हृदय रोग के लिए पूरक हस्तक्षेप के रूप में योग की प्रभावशीलता निर्धारित करने की कोशिश की गयी है। इन अध्ययनों के परिणाम मिलेजुले और अनिश्चित हैं। 1 दिसम्बर, 2016 को योग को यूनेस्को (UNESCO) द्वारा एक अमूर्त सांस्कृतिक विरासत के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

योग, तनाव से राहत का एक शक्तिशाली रूप है। योग, लोगों के आराम की राह खोजता है। योग के समय सांसों को नियंत्रित कर ध्यान लगाने पर मस्तिष्क में आने-जाने वाले विचार, भीतर से बहने वाली उर्जा या आत्मा के लिए रास्ता बनाते हैं।

संदर्भ:
1. https://en.wikipedia.org/wiki/Yoga_(philosophy)
2. https://en.wikipedia.org/wiki/Yoga
3. http://www.unity.org/resources/articles/yoga-being



RECENT POST

  • कोविड-19 के नए वेरिएंट, क्यों और कहां से आ रहे हैं?
    कोशिका के आधार पर

     29-06-2022 09:16 AM


  • पश्चिमी पूर्वी वास्तुकला शैलियों का मिश्रण, अब्दुस समद खान द्वारा निर्मित रामपुर की दो मंजिला हवेली
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:12 AM


  • क्या क्वाड रोक पायेगा हिन्द प्रशांत महासागर से चीन की अवैध फिशिंग?
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:23 AM


  • प्राकृतिक इतिहास में विशाल स्क्विड की सबसे मायावी छवि मानी जाती है
    शारीरिक

     26-06-2022 10:01 AM


  • फसल को हाथियों से बचाने के लिए, कमाल के जुगाड़ और परियोजनाएं
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:46 AM


  • क्यों आवश्यक है खाद्य सामग्री में पोषण मूल्यों और खाद्य एलर्जी को सूचीबद्ध करना?
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-06-2022 09:47 AM


  • ओपेरा गायन, जो नाटक, शब्द, क्रिया व् संगीत के माध्यम से एक शानदार कहानी प्रस्तुत करती है
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     23-06-2022 09:28 AM


  • जीवन जीने के आदर्श सूत्र हैं , महर्षि पतंजलि के अष्टांग योगसूत्र
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     22-06-2022 10:18 AM


  • कहीं आपके घर के बाहर ही तो नहीं है लाखों रुपयों के ये कीड़े
    तितलियाँ व कीड़े

     21-06-2022 09:42 AM


  • क्या सनसनीखेज खबरों का हमारे समाज से अब जा पाना मुश्किल हो चुका है?
    संचार एवं संचार यन्त्र

     20-06-2022 08:45 AM






  • © - , graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id